Sidebar Menu

Thu, 11 August 2022

रेडक्रास में विश्व रक्तदाता दिवस पर अमर शिल्पकार ने किया पहली बार तो हिमांशु ने 28वीं बार किया रक्तदान

भोपाल। भारतीय रेडक्रास सोसायटी, म.प्र. राज्य शाखा शिवाजी नगर, भोपाल के चेयरमैन-डॉ.गगन कोल्हे, वाईस चेयरमैन- भारत झंवर, मानसेवी कोषाध्यक्ष-शशांक श्रीवास्तव के निर्देशन में रेडक्रास ब्लड बैंक में विश्व रक्तदाता दिवस पर युवा वर्ग को जागरूक करने हेतु जन आंदोलन के रूप में स्वैच्छिक...

भोपाल। भारतीय रेडक्रास सोसायटी, म.प्र. राज्य शाखा शिवाजी नगर, भोपाल के चेयरमैन-डॉ.गगन कोल्हे, वाईस चेयरमैन- भारत झंवर, मानसेवी कोषाध्यक्ष-शशांक श्रीवास्तव के निर्देशन में रेडक्रास ब्लड बैंक में विश्व रक्तदाता दिवस पर युवा वर्ग को जागरूक करने हेतु जन आंदोलन के रूप में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस आंदोलन में एचडीएफसी बैंक एवं नेट लिंक मंडीदीप सहित एवं अन्य संस्थान के युवाओं द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में भाग लेकर रक्तदान किया और रेडक्रास की ओर से प्रमाण पत्र प्रदान किये गये।  
विश्व रक्तदाता दिवस पर रेडक्रास के राष्ट्रीय मुख्यालय द्वारा दिये गये संदेश ‘‘आपका छोटा सा प्रयास दूसरों को जीवन देने का दूसरा मौका दे सकता है।‘‘ इसी उद्देश्य से रेडक्रास के जनरल सेक्रेटरी प्रदीप त्रिपाठी द्वारा विश्व रक्तदाता दिवस पर रक्तदान करने आये रक्तदाताओं को संबोधित करते हुये कहा  कि आपका यह योगदान बहुत ही सरहानीय है एवं आपके इस योगदान से किसी न किसी व्यक्ति के जीवन को बचाया जा सकता है। आप अपने सहयेाग के साथ ही अन्य लोगों को भी इस कार्य के लिये प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि रक्तदान करने से अपना स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और रक्तदान करने के 72 घण्टे बाद ही यह शरीर में वापिस बनने लगता है और 6 माह बाद फिर से रक्तदान किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति द्वारा किया गया रक्तदान तीन लोगों की जाने बचा सकता है। रक्त की अलग-अलग कोशिकाएं होती है जिस व्यक्ति को जिस रक्त की कोशिकाएं की आवश्यकता होती ह,ै उस प्रकार का रक्त प्रदान किया जाता है।
प्रदीप त्रिपाठी, जनरल सेक्रेटरी ने बताया कि रेडक्रास ब्लड बैंक में आज 36 लोगों ने तथा कैम्प में 39 लोगों ने रक्तदान किया। उन्होंने कहा कि रेडक्रास ब्लड बैंक में अमर शिल्पकार, उम्र 18 वर्ष शासकीय नवीन कॉलेज में एनएसएस के छात्र हैं, जिन्होंने पहली बार रक्तदान किया। इसके साथ ही श्री गणेश हजारिया उम्र 20 मुकेश मरकाम उम्र 21 के द्वारा भी पहली बार रक्तदान किया गया। हिमांशु सिंह, उम्र 28 वर्ष, साकेत नगर ने 28वीं बार रक्तदान किया जा रहा है। हिमांशु ने बताया कि 18 वर्ष की उम्र से ही रक्तदान कर रहा हूं आज मेरे द्वारा 28वीं बार रक्तदान किया जा रहा है। इसी प्रकार अजय पटेल, राहुल जैन ने 5-5 बार अपना रक्तदान किया।
पहली बार रक्तदान करने वाले अमर शिल्पकार द्वारा बताया गया कि एनएसस में हमे सिखाया जाता है कि रक्तदान करके किसी न किसी का जीवन बचाया जा सकता है, इसी प्रेरणा से रक्तदान करके लोगों के जीवन बचाने में अपना योगदान दे रहा हूं और आगे भी इस प्रकार अपना योगदान देता रहूंगा। श्री अमर ने रक्तदान के दौरान ज्यादा से जयादा लोगों को इस नेक काम में योगदान करने की अपील की।
प्रदीप त्रिपाठी द्वारा रेडक्रास ब्लड बैंक में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में उपस्थित एचडीएफसी के प्रबंधक चैतन्य मुन्जे का स्वागत किया साथ ही नेट लिंक, मंडीदीप एवं अन्य युवाओं का रेडक्रास की ओर आभार व्यक्त कर प्रमाण वितरित किये। Posted By: SATISH TEWARE


About Author

Leave a Comment