Sidebar Menu

Fri, 07 October 2022

सीयूईटी यूजी 2022: तकनीकी वजहों से 4 से 6 अगस्त की स्थगित परीक्षा, अब होगी 24-28 अगस्त तक एनटीए ने लिया फैसला,नये सिरे से जारी होगे एडमिट कार्ड

नई दिल्ली। अंडरग्रैजुएट कोर्सेज में एडमिशन के लिए 4 अगस्त 2022 से शुरू हुए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के दूसरे चरण में रद्द हुई परीक्षा के बदले छात्रों को अब कई विकल्प दिए जा रहे हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने...

नई दिल्ली। अंडरग्रैजुएट कोर्सेज में एडमिशन के लिए 4 अगस्त 2022 से शुरू हुए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के दूसरे चरण में रद्द हुई परीक्षा के बदले छात्रों को अब कई विकल्प दिए जा रहे हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने तय किया है कि जिन छात्रों की परीक्षा रद्द हुई है, उन छात्रों के लिए 24-28 अगस्त 2022 तक सीयूईटी का आयोजन किया जाएगा और इस परीक्षा के लिए नये सिरे से एडमिट कार्ड जारी किए जाएंगे। अभी दूसरे चरण में 8 और 10 अगस्त को परीक्षा हो गई। 17, 18 और 20 अगस्त को तीसरे चरण की परीक्षा होगी।

एनटीए ने पहले छात्रों को 12-14 अगस्त की विंडो का विकल्प दिया था लेकिन बड़ी संख्या में छात्रों ने इस दौरान फेस्टिवल का हवाला देते हुए इस तारीखों पर परीक्षा नहीं करवाने की मांग रखी थी, जिसके बाद एनटीए ने परीक्षा का एक और चरण बीस अगस्त के बाद रखने का फैसला किया है। अब 24 अगस्त 2022 से परीक्षा का चौथा चरण शुरू होगा। यूजीसी के चेयरमैन प्रो. एम. जगदीश कुमार का कहना है कि रविवार को सभी सेंटरों पर परीक्षा हुई है और आने वाले दिनों में भी छात्रों को दिक्कत न हो, इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाए गए हैं।

एनटीए के डायरेक्टर जनरल डॉ. विनीत जोशी का कहना है कि 4 से 6 अगस्त 2022 के दौरान प्रशासनिक और तकनीकी वजहों से कुछ सेंटरों पर परीक्षा स्थगित कर दी गई थी और छात्रों को 12 से 14 के बीच परीक्षा देने का विकल्प दिया गया था। लेकिन छात्रों की मांग पर अब 12-14 अगस्त के बदले 24-28 अगस्त 2022 की विंडो तय की गई है।

यूजीसी के चेयरमैन प्रो. एम. जगदीश कुमार का कहना है कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने यूजीसी, एनटीए, एआईसीटीई, मंत्रालय के सीनियर अधिकारियों के साथ बैठक में दिशा- निर्देश दिए हैं कि टेस्ट सेंटरों पर पुख्ता इंतजाम हो और स्टूडेंट्स को कोई परेशानी नहीं हो। प्रो. कुमार ने कहा कि सीयूईटी एक बड़ी परीक्षा है, जो देश भर में 13 भाषाओं में 61 विषयों में आयोजित की जाती है। हालांकि कुछ केंद्रों में तकनीकी खराबी के कारण बाकी केंद्रों को फिर से शेड्यूल करना पड़ा। कुछ केंद्रों पर केंद्र के कर्मचारियों को छात्रों के साथ अधिक सहानुभूति दिखानी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि कुछ केंद्रों पर छात्रों के हित को ध्यान में रखते हुए परीक्षा रद्द की गई।

एनटीए लगातार ईमेल, मैसेजिंग और वॉयस मेल के जरिए छात्रों को बदलावों से अवगत कराने के लिए संपर्क में है और इस संबंध में अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है। छात्रों के प्रश्नों और शिकायतों को प्राप्त करने और उनका समाधान करने के लिए एक विशेष ईमेल आईडी cuetgrievance@nta.ac.in बनाया गया है। परीक्षा केंद्रों पर ज्यादा स्कूल शिक्षकों को तैनात किया जा रहा है क्योंकि उनके पास अधिक अनुभव है। Posted By: SATISH TEWARE


About Author

Leave a Comment