Sidebar Menu

Fri, 01 July 2022

बांग्लादेश में मॉनसून की बारिश ने बरपाया कहर, 60 लाख लोग प्रभावित, उठाया गया ये कदम

बांग्लादेश और सीमावर्ती भारतीय राज्यों मेघालय व असम में मॉनसून की बारिश मुसीबत बनकर आई है। बांग्लादेश में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ जैसे हालत बन गए हैं, जिससे 60 लाख लोग प्रभावित हैं। इस प्राकृतिक आपदा के मद्देनजर देश ने...

बांग्लादेश और सीमावर्ती भारतीय राज्यों मेघालय व असम में मॉनसून की बारिश मुसीबत बनकर आई है। बांग्लादेश में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ जैसे हालत बन गए हैं, जिससे 60 लाख लोग प्रभावित हैं। इस प्राकृतिक आपदा के मद्देनजर देश ने सहायता, राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना को मदद के लिए बुलाया है। आधिकारिक अनुमान के मुताबकि, मकानों में पानी घुस जाने के चलते करीब 60 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। 

देश के उत्तरी-पूर्वी और उत्तरी क्षेत्र की नदियों में जलस्तर लगातार बढ़ने के चलते कई लोग अस्थाई शिविरों में रुके हुए हैं। बाढ़ पूर्वानुमान और चेतावनी केंद्र (एफएफडब्ल्यूसी) के प्रवक्ता ने कहा, "देश की चार प्रमुख नदियों में से दो नदियों में जलस्तर खतरे के निशान से बहुत ऊपर है और हालात लगभग 2004 के बाढ़ जैसे हैं।" 

कई लोगों को सुनामगंज में पानी भरने के बाद छतों पर शरण लेना पड़ा था, हालांकि बाद में नावों की मदद से उन्हें बाहर निकाला गया। बाढ़ के कारण कितने लोगों की मौत हुई ,है इस संबंध में अभी तक कोई आधिकारिक आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। अनौपचारिक आंकड़ों के मुताबिक, देश में कम से कम 19 लोगों की मौत हुई है। 

एफएफडब्ल्यूसी ने मेघालय और बांग्लादेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश को इस बाढ़ का कारण बताया है। बाढ़ का पानी कई बिजली घरों में भर गया है, जिसके कारण प्रशासन को इन बिजली घरों को बंद करना पड़ा है। इसके कारण इंटरनेट और मोबाइल फोन संवाएं बंद हो गई हैं। इससे पहले बांग्लादेश ने सेना को प्रशासन की मदद के लिए बुलाया है। Posted By: VILAS TIWARI


About Author

Leave a Comment