Sidebar Menu

Fri, 07 October 2022

उज्बेकिस्तान में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन सम्मेलन में पाकिस्तानी पीएम शहबाज से मिल सकते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की अगले महीने मुलाकात हो सकती है। राजनयिक सूत्रों के मुताबिक उज्बेकिस्तान में 15-16 सितंबर 2022 को शंघाई सहयोग संगठन का सम्मेलन आयोजित होने जा रहा है। इस दौरान भारत और...

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की अगले महीने मुलाकात हो सकती है। राजनयिक सूत्रों के मुताबिक उज्बेकिस्तान में 15-16 सितंबर 2022 को शंघाई सहयोग संगठन का सम्मेलन आयोजित होने जा रहा है। इस दौरान भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री सहित चीन, रूस और ईरान के राष्ट्रपति भी शामिल होंगे।​​​​उज्बेकिस्तान के समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन की मीटिंग में दोनों देशों के पीएम मिल सकते हैं।

सूत्रों के मुताबिक दोनों के बीच किसी औपचारिक मुलाकात की जानकारी नहीं है। पुलवामा के आतंकी हमले के बाद से दोनों देशों के प्रधानमंत्री के बीच औपचारिक मुलाकात नहीं हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 6 साल में यह पहली बार है कि दोनों देशों के प्रधानमंत्री एक छत के नीचे मौजूद होंगे। प्रधानमंत्री मोदी और पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ की इस बैठक में क्या मुद्दे होंगे। दोनों देशों के बीच फिर से बातचीत का सिलसिला शुरू हो जाएगा। इसे लेकर अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

शहबाज शरीफ के अप्रैल में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने पर नरेंद्र मोदी ने उन्हें ट्विटर के जरिए बधाई दी थी। पीएम मोदी ने लिखा, पाकिस्तान का प्रधानमंत्री चुने जाने पर मियां मुहम्मद शहबाज शरीफ को बधाई। भारत एक आतंकवाद मुक्त क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहता है, जिससे हम अपने लोगों की भलाई और संपन्नता सुनिश्चित कर सकें। इसके जवाब में पाकिस्तानी पीएम ने भी नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहा था।

शंघाई सहयोग संगठन क्या है- शंघाई सहयोग संगठन एक स्थायी अंतर-सरकारी अंतर्राष्ट्रीय संगठन है। यह यूरेशियाई राजनीतिक, आर्थिक और सैन्य संगठन है, जिसका उद्देश्य क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखना है। इसका गठन वर्ष 2001 में किया गया था। ​भारत, रूस, चीन, पाकिस्तान, कजाकिस्तान, उजबेकिस्तान, कजाकिस्तान और किर्गिस्तान सहित कुल 8 देश इस संगठन के सदस्य हैं। Posted By: VILAS TIWARI


About Author

Leave a Comment